• सुंजवान स्थित सेना के शिविर पर आतंकी हमले में 7 जवान हो गए थे शहीद

श्रीनगर सुरक्षा बलों ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी मुफ्ती वकास को दक्षिण कश्मीर के अवंतीपुरा में मुठभेड़ में मार गिराया। उसे पिछले महीने हुए सुंजवान आतंकी हमले का मुख्य षड्यंत्रकारी बताया गया है। सेना के अनुसार एक विशेष सूचना के आधार पर उसकी एक छोटी टीम ने विशेष अभियान समूह के साथ मिलकर अवंतीपुरा में हटवार इलाके को घेर लिया और एक घर पर ‘सर्जिकल हमला’ किया। सेना के अनुसार, इस अभियान में जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर वकास मारा गया।

सेना ने बताया कि वकास जम्मू के सुंजवान सैन्य शिविर में हुए आतंकी हमले का और दक्षिण कश्मीर के लेथपुरा में सीआरपीएफ के एक शिविर पर आत्मघाती हमले का मास्टरमाइंड था। सेना ने कहा कि इस मुठभेड़ में कोई नागरिक हताहत नहीं हुआ है और अन्य कोई नुकसान भी नहीं हुआ है। वकास के मारे जाने के बाद जैश के मंसूबों को झटका लगा है। उसके एक और कमांडर नूर मोहम्मद तांत्रेय को इसी इलाके में 17 दिसंबर को मार दिया गया था।

आर्मी अफसरों के मुताबिक, वकास पाकिस्तान से भागकर 2017 में कश्मीर आया था। तभी से वह जैश-ए-मोहम्मद के ऑपरेशनल कमांडर के तौर पर काम कर रहा था। ऐसा कहा जाता है कि इसने कई फिदायीन दस्ते तैयार किए थे। इसमें कश्मीर के लड़के शामिल थे। वकास ने दक्षिण कश्मीर के त्राल से आत्मघाती हमलावरों को जम्मू भेजा था जहां उन्होंने 10 फरवरी को सुंजवान स्थित सेना के शिविर पर हमला किया था। इस हमले में 7 जवान शहीद हो गए थे। कश्मीर के आईजी एसपी पानी ने बताया कि वकास के पास से हथियार और आईईडी बनाने का सामान बरामद हुआ है।