• पीएनबी महाघोटाले और एनपीए को लेकर भाजपा ने कांग्रेस पर लगाया गंभीर आरोप

नई दिल्ली पीएनबी महाघोटाले और एनपीए को लेकर भाजपा ने कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाया है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम द्वारा शुरू की गई योजना से पीएनबी घोटाले के आरोपियों मेहुल चोकसी और नीरव मोदी की मदद की गई।

रविशंकर प्रसाद ने कहा, ‘ज्वेलरी की इम्पोर्ट को लेकर एक 80:20 योजना यूपीए सरकार लेकर आई थी। पहले इस स्कीम में केवल सरकारी कंपनी को रखा गया था, लेकिन यूपीए सरकार ने 16 मई, 2014 को तत्कालीन वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने 80:20 योजना के तहत 7 निजी कंपनियों को आशीर्वाद दिया। इसमें गीतांजलि ज्वेलर्स भी शामिल थी।’ रविशंकर प्रसाद ने कहा कि चिदंबरम जी को यह बताना चाहिए कि नियम में बदलाव करके उन्होंने क्यों फायदा दिया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आजकल कांग्रेस एनपीए पर बात करती है, लेकिन 2008-18 के बीच 6 लाख करोड़ एडवांस बैंकों के द्वारा दिए गए, जो मार्च 2014 तक 52.1 लाख करोड़ हो गए। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि देश के अर्थतंत्र को कांग्रेस ने तार-तार कर दिया था। कांग्रेस पार्टी भय और भ्रम की राजनीति कर रही है, ये निंदनीय है। कांग्रेस बार-बार हारती है, लेकिन वो बाज नहीं आते। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस सुधार विरोधी पार्टी है, क्योंकि सुधार होगा तो देश में पारदर्शिता आएगी, देश में जवाबदेही आएगी। लेकिन हम साफ कर देना चाहते हैं कि एक भी भ्रष्ट को नहीं छोड़ा जाएगा। कद और पद की आड़ में कोई बच नहीं सकता।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बीजेपी पूरे देश में कांग्रेस के भय और भ्रम की राजनीति को एक्सपोज़ करने के लिए बड़ा अभियान चलाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी टेक्नोलॉजी पर विश्वास नहीं करती है, क्योंकि टेक्नोलॉजी से पारदर्शिता आती है। आधार कांग्रेस पार्टी लेकर आई और उसका सबसे ज्यादा विरोध वही कर रही है। इनके नेता और वकील संसद में आधार के खिलाफ बोलते हैं और कोर्ट में भी आधार के खिलाफ बोलते हैं। उन्होंने कहा कि, कांग्रेस का जो भय और भ्रम का प्रयोजन है वह आपने नोटबंदी में देखा है। राहुल गांधी ने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहा था।