Breaking News

गोरखपुर उपचुनाव : सपा के स्टार प्रचारकों में कई प्रमुख चेहरों को जगह नहीं

8 0
  • 40 स्‍टार प्रचारकों में डिंपल व शिवपाल शामिल नहीं, मुलायम सिंह भी नहीं करेंगे प्रचार

गोरखपुर। गोरखपुर और फूलपुर चुनाव में बीजेपी और समाजवादी पार्टी ने अपनी ताकत झोंक दी है। दोनों दलों ने जीत के लिए अपने सभी वरिष्ठ नेताओं को मैदान में उतार दिया है। हालांकि, समाजवादी पार्टी ने इस बार अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट से डिम्पल यादव को दूर रखा है। 40 स्टार प्रचारकों की सूची में इस बार भी शिवपाल सिंह यादव से समाजवादी पार्टी ने दूरी बनाए रखी है। उपचुनाव में मुलायम सिंह यादव भी प्रचार नहीं करेंगे।

बता दें कि बीते विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी में गृह कलह खुलकर सामने आई थी। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव की जगह अखिलेश यादव के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद अंदरूनी तौर पर तमाम नए समीकरण बने। कई वरिष्ठ नेताओं के अधिकार कम हुए तो कइयों के प्रभाव में काफी वृद्धि हुई। हालांकि, चुनावी नतीजे आने के बाद अखिलेश यादव ने अपने ऊपर लगे परिवारवाद के दाग को धोने की कोशिश में अपनी पत्नी को चुनाव मैदान में भविष्य में नहीं उतारने का फैसला लिया था। राजनीतिक पंडित यह मान रहे थे कि अखिलेश यादव का डिंपल से राजनीति न कराने का फैसला केवल बयानबाजी हो सकती है। लेकिन इधर यूपी में दो लोकसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव में घोषित स्टार प्रचारकों की लिस्ट से साफ है कि डिम्पल यादव चुनावी मैदान में उपलब्ध नहीं रहेंगी। हालांकि, अगर लोकप्रियता की दृष्टि से देखा जाए तो अखिलेश के बाद चुनावी रैली में डिम्पल की ही सबसे अधिक मांग है।

सपा-बीजेपी ने झोंकी ताकत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा खाली की गई संसदीय सीट गोरखपुर और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की फूलपुर सीट को जीतने के लिए सभी दल बिसात बिछा रहे हैं। किसी भी कीमत पर दोनों दलों में कोई खुद को कमतर नहीं रखना चाह रहा। सभी रोज अपने तरकश से जीत का कोई नया ‘तीर’ निकाल रहे हैं। बीजेपी के फायरब्रांड नेता व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार (26 फरवरी) से उपचुनाव की रैली का आगाज कर दिया तो समाजवादी पार्टी फिलहाल अपने कुछ ख़ास स्टार प्रचारकों को उतार कर रणनीतिक स्तर पर बिसात बिछाने में व्यस्त दिख रही।

ये हैं समाजवादी पार्टी के स्टार प्रचारक

गोरखपुर उपचुनाव के लिए इस बार समाजवादी पार्टी के स्‍टार प्रचारकों की सूची में अखिलेश यादव, किरणमय नंदा, राम गोपाल यादव, आजम खां, जया बच्चन, नरेश अग्रवाल, राम गोविन्द चौधरी, विशम्भर प्रसाद निषाद, बलराम यादव, अहमद हसन, नरेश उत्तम पटेल, कुंवर रेवती रमण सिंह, माता प्रसाद पांडेय, इंद्रजीत सरोज, रमाशंकर विद्यार्थी, रामपूजन पटेल, आरके चौधरी, अरविन्द कुमार सिंह, धर्मेंद्र यादव, रमेश प्रजापति, हाजी रियाज अहमद, कमाल अख्तर, दयाराम प्रजापति, पीएन चौहान, नीरज शेखर, रामाश्रय विश्वकर्मा, अविनाश कुशवाहा, रामदुलार राजभर, सर्वेश अम्बेडकर, डॉ. राजपाल कश्यप, रामललित चौधरी, रामसुन्दर दास निषाद, जवाहर लाल मौर्य, संजय सविता विद्यार्थी, विजय बहादुर पाल, नफीस अहमद, संग्राम सिंह यादव, श्याम लाल पाल, मौलाना आबिद रजा और लीलावती कुशवाहा शामिल हैं।

Related Post

चुनाव में नहीं चलेगा कालाधन, चुनावी बॉन्ड्स से ही चंदा लेंगी राजनीतिक पार्टियां

Posted by - January 2, 2018 0
चुनावी फंडिंग को साफ-सुथरा और पारदर्शी बनाने के लिए सरकार ने उठाया महत्वपूर्ण कदम वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा…

लड़की ने दोस्ती तोड़ी तो सिरफिरे आशिक ने रेत दिया गला, सहेली को भी किया घायल

Posted by - May 17, 2018 0
सोलन जिले के बद्दी बरोटीवाला की घटना, पुलिस ने आरोपी युवक को किया गिरफ्तार सोलन। हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले…

बीएचयू बवाल के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन जिम्मेदार: कमिश्नर

Posted by - September 26, 2017 0
वाराणसी : वाराणसी के कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने काशी हिन्दू विश्वविद्यायल (बीएचयू) परिसर में शनिवार की रात हुए भारी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *