• राजनाथ सिंह ने कहा – प्रदर्शनकारी छात्र अब घर जाएं और सीबीआई की रिपोर्ट का इंतजार करें

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एसएससी में कथित धांधली के विरोध में धरने पर बैठे छात्रों से अपील की है कि वे अपना धरना समाप्त कर दें। राजनाथ सिंह ने आश्वासन दिया है कि पेपर लीक मामले की सीबीआई जांच होगी। उन्होंने यह भी कहा कि जांच के आदेश दिए जा चुके हैं।

गृहमंत्री ने कहा कि अब प्रदर्शनकारी छात्रों को घर जाकर सीबीआई की रिपोर्ट का इंतजार करना चाहिए। दिल्‍ली बीजेपी अध्‍यक्ष मनोज तिवारी ने भी बताया कि कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (DOPT) ने एसएसी पेपर लीक मामले में सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं। 7 फरवरी से 22 फरवरी के बीच जितने एग्जाम हुए, उनकी जांच की जाएगी। इससे पहले कर्मचारी चयन आयोग ने एसएसी प्रश्नपत्र के कथित तौर पर लीक होने के मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश करने का निर्णय लिया।

एसएससी प्रमुख असीम खुराना ने एक बयान में कहा कि कथित पेपर लीक के विरोध में प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थियों का एक प्रतिनिधिमंडल उनसे मिला और ज्ञापन सौंपा। उनके साथ दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी भी थे। उन्होंने 17 से लेकर 22 फरवरी तक आयोजित हुई परीक्षा में प्रश्नपत्रों के लीक होने के मामले में सीबीआई जांच की मांग की है। बयान में कहा गया है कि आयोग ने 21 फरवरी को हुई परीक्षा के प्रश्नपत्र-1 के प्रश्न लीक होने से जुड़े आरोपों की सीबीआई जांच की सिफारिश कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग से करने पर सहमति जताई है।

बता दें कि सैकड़ों छात्र एसएससी कार्यालय के बाहर 27 फरवरी से ही प्रदर्शन कर रहे हैं। रविवार को छात्रों के प्रदर्शन का पांचवां दिन था। इनका कहना है कि जब तक मांग मानी नहीं जाएगी, उनका आंदोलन जारी रहेगा। दरअसल, एसएससी द्वारा आयोजित सीजीएल 2017 के टियर टू की परीक्षा के प्रश्नपत्र लीक हो गए थे जिसके बाद से परीक्षार्थी सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे। एसएससी परीक्षा को रद्द करने और इसकी सीबीआई जांच कराने को लेकर अन्ना हजारे ने भी प्रधानमंत्री और मानव संसाधन मंत्री को चिट्ठी लिखी है।